Breaking News

सीधी-“विटामिन ए” अनुपूरण प्रथम चरण का आयोजन 7 जुलाई से 8 अगस्त तक अभियान संचालन के दौरान पूरी सतर्कता और सावधानी बरतें – कलेक्टर 

“विटामिन ए” अनुपूरण प्रथम चरण का आयोजन 7 जुलाई से 8 अगस्त तक

अभियान संचालन के दौरान पूरी सतर्कता और सावधानी बरतें – कलेक्टर


सीधी 29 जून 2020
कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुये शासन द्वारा 09 माह से 5 वर्ष के बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता की वृद्धि किये जाने के उद्देश्य से जिले में “विटामिन ए” अनुपूरण प्रथम चरण का आयोजन 7 जुलाई से 8 अगस्त 2020 तक किया जाएगा। उक्त कार्यक्रम के बेहतर क्रियान्वयन हेतु जिला स्तरीय प्लानिंग बैठक का आयोजन शनिवार को कलेक्टर रवीन्द्र कुमार चौधरी की अध्यक्षता में जिला पंचायत के सभाकक्ष में किया गया।

इस अवसर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ए.बी. सिंह, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. मिश्रा, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास अधिकारी अवधेश सिंह, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. नागेन्द्र बिहारी, डी.पी.एम., परियोजना अधिकारी, सुपरवाईजर उपस्थित रहे।

कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा निर्देशित किया गया कि आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा 09 माह से 05 वर्ष के बच्चों को “विटामिन ए” अनुपूरण हेतु सीमित संख्या में सत्र स्थल पर नियमित अंतराल से बुलाया जाए। किसी भी परिस्थिति में सत्र स्थल पर 1 समय में 05 से अधिक हितग्राही उपस्थित नहीं हो तथा 2 व्यक्तियों के मध्य कम से कम 6 फिट की दूरी अवश्य रखी जाये। उन्होंने कहा कि कार्य पूरी सतर्कता एवं सावधानी किया जाए तथा सभी बच्चों को विटामिन ए की खुराक दिलाया जाना सुनिश्चित करें।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिश्रा द्वारा बताया गया कि आशा एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ता द्वारा हितग्राहियों की माताओं को पूर्व में ही घर से साफ धुली हुई चम्मच लाने हेतु सूचना दी जाये तथा सुनिश्चित करें कि बच्चों की माताओं एवं परिवार के सदस्य जो बच्चों के साथ टीकाकरण स्थल पर आ रहे हैं वे अपने साथ धुली हुई चम्मच अवश्य लायें। मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा विटामिन ए की बोतल के साथ प्रदायित 01 एम.एल.ध्02 एम.एल. मार्किंग युक्त चम्मच से विटामिन ए की दवा हितग्राहियों की चम्मच में डालने के उपरान्त परिवार सदस्य द्वारा बच्चों को पिलाई जाये। माप अप दिवस में गृह भ्रमण के दौरान भी मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा विटामिन ए की खुराक हितग्राही के घर की साथ धुली हुई चम्मच मे डालने के उपरान्त परिवार सदस्य द्वारा बच्चों को पिलाई जाये। टीकाकरण स्थल पर साबुन से हाथ धोने, सेनेटाईजर से हाथ साफ करने की व्यवस्था की जाये। गृह भ्रमण के दौरान कार्यकर्ताओं द्वारा सेनेटाईजर अवश्य साथ में रखें। कोविड-19 रेड जोन कंटेनमेंट क्षेत्रों में उक्त गतिविधि का आयोजन नहीं किया जाये। ऐसे क्षेत्रों में परिस्थितियां सामान्य होने के उपरान्त ही विटामिन ए का अनुपूरण की गतिविधि आयोजित की जाये। ग्रामीण क्षेत्रों एवं शहरी क्षेत्रों में चिन्हित संस्थाओं में क्वारेंटाइन में रखे गये प्रवासी मजदूर परिवारों में 9 माह से 5 वर्षीय आयु वर्ग के हितग्राहियों को चिन्हित कर विटामिन ए अनुपूरण किया जाये। क्वारेंटाइन में 6 माह से 5 वर्षीय आयु वर्ष के बच्चों का विटामिन ए अनुपूरण क्षेत्र की एएनएम द्वारा संस्था में पदस्थ स्वास्थ्य कर्मियों, आयुष चिकित्सको के सहयोग से किया जाये।

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. नागेन्द्र बिहारी ने बताया कि कोविड-19 महामारी को दृष्टिगत रखते हुए शासन द्वारा 9 माह से 5 वर्षीय बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता की वृद्धि किये जाने हेतु विभिन्न प्रयास किये जा रहें है। भारत शासन के दिशा निर्देशानुसार 9 माह से 5 वर्षीय समस्त बच्चों को विटामिन ए की खुराक दी जाना अति आवश्यक है। अतः जिले में विटामिन ए अनुपूरण 7 जुलाई से 8 अगस्त के अंतर्गत स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग के मैदानी कार्यकर्ताओं द्वारा दवा का सेवन कराया जाये। विटामिन ए अनुपूरण से बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है जिससे बाल्यावस्था में होने वाले कुपोषण में कमी आती है एवं बाल जीवितता में 20 प्रतिशत की वृद्धि की जा सकती है। प्रत्येक ग्राम में एएनएम, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के संयुक्त दल द्वारा नियमित टीकाकरण ग्राम व शहरी स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस के दौरान 6 माह से 5 वर्ष तक बच्चों को विटामिन ए का घोल की खुराक पिलाई जायेगी। छूटे हुए बच्चों को विटामिन ए का घोल की खुराक नियमित टीकाकरण, वी.एच.एन.डी. के अगले दिन मापअप दिवस में घर-घर जाकर एएनएम आंगनवाडी तथा आशा कार्यकर्ता के संयुक्त दल द्वारा पिलाई जायेगी।

 

Check Also

*पिता-पुत्र कोरोना पॉजिटिव, पिता की मौत,पुत्र का इलाज प्रारंभ, लोगों में दहशत।*

🔊 Listen to this *पिता-पुत्र कोरोना पॉजिटिव, पिता की मौत,पुत्र का इलाज प्रारंभ, लोगों में …