Breaking News

*वर्षों से महिला अस्पताल में नहीं खुलता ताला जिम्मेवार कौन* इलाहाबाद एक्सप्रेस

*वर्षों से महिला अस्पताल में नहीं खुलता ताला जिम्मेवार कौन*
इलाहाबाद एक्सप्रेस

आनापुर (प्रयागराज)। विकास खण्ड कौड़िहार के आनापुर महिला अस्पताल में दस वर्ष से ताला बन्द है । क्षेत्र की जनता द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार लिखापढ़ी में अधिकारी कर्मचारी तैनात हैं जो कभी आते ही नहीं ,अगर ऐसा है तो यह जाँच का विषय है ? चारों तरफ़ टूटी-फूटी इमारत,गन्दगी का अम्बार,इमारत पर चारों तरफ बड़ी-बड़ी घास जमीं है।मजबूरन लोगों को जाना पड़ता है प्राइवेट अस्पतालों में ? आनापुर अस्पताल की स्थापना वर्ष 1933 में आनापुर के राजाओं द्वारा किया गया था। लगभग पाँच सौ ग्राम सभा की आबादी में इकलौती अस्पताल थी सभी प्रकार के उपकरणों से सुसज्जित थी पुरुष और महिला डॉक्टर चौबीस घण्टे डयूटी देते थे। मरीजों के देख कर भर्ती किया जाता था।हर तरह का उपचार होता था। लेकिन दस वर्ष से अस्पताल लावारिस पड़ी है। जिसके सम्बन्ध में क्षेत्र के.आशीष लाला ,बलराम सिंह ,ने कई बार उच्च अधिकारियों एव मुख्यमंत्री पोर्टल और शासन में रहे पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह से लोगों ने मिलकर शिकायत किया था । लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।और पूरा क्षेत्र झोलाछाप डॉक्टरों के सहारे बैठे रहता है। न अधिकारी सुध ले रहे हैं न ही जन प्रतिनिधियों द्वारा कोई कार्रवाई हो रही है। जिले के मुख्य स्वास्थ्य अधिकारी नें भी कभी महिला अस्पताल की सुध नहीं ली। शिकायत के बावजूद भी जिले से लेकर शासन सत्ता में बैठे जिम्मेवार अधिकारी या मन्त्री नें अस्पताल के प्रति सिर्फ उदासीन दिखे क्या यही मोदी सरकार ,योगी सरकार के स्वस्थ भारत स्वच्छ भारत के सपनों का भारत है ।आखिर इतनी बड़ी लापरवाही का जिम्मेवार कौन है …?

Check Also

25 लीटर अवैध जहरीली शराब के साथ एक तस्कर गिरफ्तार* *लालापुर पुलिस का चला हंटर अवैध शराब माफिया में मचा हड़कंप*

🔊 Listen to this *25 लीटर अवैध जहरीली शराब के साथ एक तस्कर गिरफ्तार* *लालापुर …