Breaking News

कोविड-19 के रोकथाम हेतु जनपद में की जा रही है प्रभावी ढंग से कार्रवाई, लोगो को उपलब्ध करायी जा रही है आवश्यक सुविधायें 22 अगस्त, 2020 प्रयागराज।

कोविड-19 के रोकथाम हेतु जनपद में की जा रही है प्रभावी ढंग से कार्रवाई, लोगो को उपलब्ध करायी जा रही है आवश्यक सुविधायें
22 अगस्त, 2020 प्रयागराज।
कोविड-19 महामारी के रोकथाम एवं प्रभावी नियंत्रण हेतु जनपद प्रयागराज में जिलाधिकारी श्री भानु चन्द्र गोस्वामी के कुशल नेत ृत्व में शासन की मंशा के अनुरूप अनेक प्रभावी एवं सुधारात्मक कदम उठाये गये है। कोरोना के उपचार हेतु कुल 8 अस्पताल संचालित है, जिनमें कुल 1710 बेड की व्यवस्था की गयी है। कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए कुल 21 एल-1 कोविड केयर सेंटर को प्रस्तावित किया गया है, जिसमें कुल 4140 बेड की व्यवस्था की गयी है। जनपद में कुल 31 सैम्पल कलेक्शन सेंटर बनाये गये है, जिसमें शहर में 11 स्थानों पर तथा सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर भी परीक्षण की सुविधा उपलब्ध करायी गयी है। प्रतिदिन 2500-3000 लोगो की सैम्पलिंग की जा रही है। कुल लगभग 700 से 800 आरटीपीसीआर और 2200 से 2400 एंटीजन टेस्ट किए जा रहे है। तीन स्थानों पर टूनाॅट मशीन लगायी गयी है। जनपद में अब तक कुल 91823 लोगो का परीक्षण किया जा चुका है। स्वरूप रानी नेहरू एल-3 चिकित्सालय में 40 वेंटीलेटर तथा 40 आईसीयू बेड उपलब्ध है। तेज बहादुर सप्रू एल-2 चिकित्सालय में 20 वेंटीलेटर तथा 20 आईसीयू बेड उपलब्ध है। श्री साई नाथ वात्सल्य एल-2 चिकित्सालय में 03 वेंटीलेटर तथा 06 आईसीयू बेड एवं युनाईटेड मेडिसिटी में 04 वेंटीलेटर तथा 06 आईसीयू बेड उपलब्ध है। जनपद में 83 क्लस्टर तथा 2172 कन्टेनमेंट जोन है। डोर-टू-डोर सर्वे के लिए लगभग 1800 सर्विलांश टीमों को लगाया गया है, जिनके माध्यम से शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे का कार्य किया जा रहा है। होम आइशोलेशन में अब तक कुल 2015 लोग होम आइशोलेशन कम्पलीट कर चुके है। जनपद में विभिन्न कोविड अस्पतालों में कोरोना से संक्रमित अब तक 2833 लोग उपचार के बाद डिस्चार्ज किया जा चुका है। मरीजों की सुविधा के लिए कुल 32 एम्बुलेंस लगाये गये है। कोविड-19 के तहत लोगो की समस्याओं के निस्तारण के लिए एकीकृत कमांड कंट्रोल रूम सेंटर की स्थापना की गयी है। कोविड-19 के प्रभावी नियंत्रण हेतु कंट्रोल रूम को 24 घंटे क्रियाशील किया गया है।
कोविड-19 महामारी में लाॅकडाउन की अवधि में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत नियमित वितरण अप्रैल-2020 से जुलाई 2020 तक प्रतिमाह जनपद में लगभग 10 लाख राशन कार्ड धारकों को लगभग 21 हजार मीट्रिक टन गेहूं तथा चावल का मासिक वितरण किया गया है। समस्त अन्त्योदय कार्ड धारक तथा पात्र गृहस्थी कार्ड धारकों में से वे कार्ड धारक जो मनरेगा जाॅब कार्डधारक, श्रम विभाग तथा नगर निकाय में पंजीकृत दिहाड़ी मजदूर के रूप में चयनित है, को माह अप्रैल, 2020 से जून, 2020 तक लगभग 2 लाख ऐसे परिवारों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरित किया गया है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत अप्रैल, 2020 से जुलाई, 2020 तक प्रतिमाह जनपद में लगभग 10 लाख राशन कार्ड धारकों में लगभग 21 हजार मीट्रिक टन निशुल्क गेहूं तथा चावल का मासिक वितरण किया गया है। इसी प्रकार प्रति परिवार एक किलोग्राम प्रति राशन कार्ड की दर से चने का निःशुल्क वितरण भी कराया गया है। आत्मनिर्भर भारत योजना के अन्तर्गत 13 हजार से अधिक प्रवासियों/अवरूद्ध प्रवासियों को चिन्हांकित करके प्रतिमाह लगभग 115 मीट्रिक टन खाद्यान्न तथा 13 मीट्रिक टन चने का निःशुल्क वितरण कराया गया है।

Check Also

उत्तरप्रदेश में टोल प्लाजा पर एक जनवरी से फास्टैग जरूरी, नकदी लेन-देन की सुविधा होगी बंद*

🔊 Listen to this *उत्तरप्रदेश में टोल प्लाजा पर एक जनवरी से फास्टैग जरूरी, नकदी …