Breaking News

प्रयागराज देव दीपावली पर्व के आयोजन के सम्बंध में बैठक सम्पन्न

प्रयागराज देव दीपावली पर्व के आयोजन के सम्बंध में बैठक सम्पन्न
जिलाधिकारी  भानु चन्द्र गोस्वामी की अध्यक्षता में 30 नवम्बर को कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर देव दीपावली पर्व को सकुशल व सुचारू रूप से सम्पन्न कराने के उद्देश्य से मंगलवार को संगम सभागार में बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करते हुए देव दीपावली पर्व को मनाये जाने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि इस बार देव दीपावली पर आतिशबाजी की इजाजत नहीं होगी। उन्होंने मेला प्राधिकरण को एक समिति बनाने के लिए कहा, जिसमें ज्यादा से ज्यादा लोगो को जोड़ा जाये। देव दीपावली मनाये जाने के लिए विभिन्न विभागों की जो जिम्मेदारी तय की गयी है, वे उसका अनुपालन करना सुनिश्चित करें। संगम क्षेत्र में किला से लेकर संगम नोज तक तथा संगम नोज से शास्त्री ब्रिज तक तथा बड़े हनुमान मन्दिर, परेड, गंगा आरती स्थल, दारागंज में दशाश्वमेघ घाट पर साफ-सफाई एवं समतलीकरण का कार्य कराना सुनिश्चित कर लिया जाये। यमुना तट पर स्थित सरस्वती घाट, बोट क्लब घाट, बलुआघाट, बरगद घाट की साफ-सफाई एवं इन स्थलों पर पूर्व से स्थापित हाइलोजन एवं स्ट्रीट लाइटें जलाया जाना सुनिश्चित किया जाये। अरैल क्षेत्र में त्रिवेणी पुष्प पर रंगीन लाइट की व्यवस्था की जाये। झूंसी क्षेत्र में घाटों तथा गंगा नदी के तटों की साफ-सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करें। संगम तट पर स्थित किले की सजावट इलेक्ट्रिक लाइट व रंगीन फोकस लाइट/स्पाट लाइट की व्यवस्था की जाये। कार्यक्रम हेतु मंच की व्यवस्था, शामियाना, कॉरपोट, कुर्सियों, सोफे आदि की व्यवस्था की जाये। कार्यक्रम के आयोजन के दृष्टिगत संगम तट पर माला-फूल आदि सामग्री की दुकानें व चैकियों को संगम तट से लगभग 100 मीटर की दूरी पर स्थापित की जाये। देव दीपावली के अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के प्रस्तुतिकरण की व्यवस्था की जाये। देव दीपावली के अवसर पर दीपक एवं कैण्डिल से सजावट किये जाने हेतु संगम क्षेत्र को विभाजित कर संस्थाओं, स्कूल-कालेज के विद्यार्थियों, एन0सी0सी0, एन०एस०एस०, सिविल डिफेन्स एवं व्यापार मण्डल आदि को आवंटित किये जाने के सम्बन्ध में निर्णय लेने के निर्देश दिये गये। देव दीपावली के अवसर पर आने वाली भीड़ को नियंत्रित करने हेतु मजिस्ट्रेट/पुलिस बल/जल पुलिस की तैनाती की जाये। कार्यक्रम स्थल पर चिकित्सीय सुविधा हेतु एम्बुलेन्स, चिकित्सक एवं दवाओं आदि की व्यवस्था की जाये। पेयजल की समुचित व्यवस्था हेतु टैंकर आदि की व्यवस्था करने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिये। अग्नि सम्बन्धी दुर्घटनाओं के बचाव हेतु फायर बिग्रेड आदि की समुचित व्यवस्था की जाये। बैठक में जिलाधिकारी ने वाहनों की पार्किंग व ट्रैफिक आदि की समुचित व्यवस्था के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश दिये। देव दीपावली के अवसर पर शहर क्षेत्र के चैराहों, मन्दिरों, गुरुद्वारों, चर्च को सजाने, रंग-बिरंगी लाइट की व्यवस्था तथा किला घाट से सरस्वती घाट तक स्पाट लाइट से सजाने के सम्बन्ध में चर्चा की गयी। आयोजन स्थल को सेक्टरों में विभाजित कर कैण्डल व दीप से सजाने के सम्बन्ध में सम्बंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये। देव दीपावली के अवसर पर शहर के चैराहों पर स्थित महापुरूषों की प्रतिमाओं की सजावट का कार्य तथा सरस्वती घाट एवं बलुआघाट पर नावों में दीप-दान के सम्बन्ध में चर्चा की गयी। देव दीपावली के अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा दीप-दान हेतु लक्ष्य निर्धारित करने के सम्बन्ध में चर्चा की गयी। बैठक में अपर जिलाधिकारी(नगर)-श्री ए0के0 कनौजिया, माघ मेला प्रभारी श्री विवेक चतुर्वेदी सहित सम्बंधित अधिकारी एवं संगठन के लोग मौजूद रहे।

Check Also

_योगी सरकार का बड़ा फैसला, हर व्यक्ति को मिले रोजगार, इसलिए मनरेगा के बजट को किया दोगुना, 20 लाख से अधिक श्रमिकों को मिलेंगे ये 17 बड़े लाभ_

🔊 Listen to this *_योगी सरकार का बड़ा फैसला, हर व्यक्ति को मिले रोजगार, इसलिए …