Breaking News

वर्दी के नशे में चूर दरोगा ने दलित युवती के साथ की बर्बरता* इलाहाबाद एक्सप्रेस-अमरनाथ झा

*वर्दी के नशे में चूर दरोगा ने दलित युवती के साथ की बर्बरता*
इलाहाबाद एक्सप्रेस-अमरनाथ झा
लखनऊ ब्यूरो । चरवा थाने की पुलिस बनी जल्लाद ब्रिटिश हुकूमत के अत्याचार को चरितार्थ करते हुए वर्दी के नशे में चूर दरोगा व सिपाही ने बेकसूर दलित युवती पर बरसाई अंधाधुंध लाठियां । फिर महिला पर ही पुलिस ने उल्टा मनगढ़ंत पुलिस पर हमला का आरोप लगाकर अपने बचाव के लिए मुकदमा दर्ज कर दिया । एसपी से की पीड़ित महिला ने शिकायत, चरवा थाना क्षेत्र का है मामला । कौशांबी जनपद में पुलिस बेलगाम होकर महिलाओं पर लाठियां बरसाने से बाज नहीं आ रही है । एक तरफ जहां योगी सरकार नारी शक्ति और नारी सम्मान, स्वाभिमान का अभियान चला रही है । वही कौशांबी जिले की चरवा थाना पुलिस बेलगाम होकर महिलाओं पर लाठियां बरसा रही है । थाना क्षेत्र की एक महिला पर पुलिस की थर्ड डिग्री की यातना भी पनाह मान गई है। पुलिस ने महिला को लाठियों से बेरहमी से पीटा है कि वह चलने फिरने और बैठने -उठने को मोहताज है। चरवा थाने की जल्लाद बनी पुलिस ने ब्रिटिश हुकूमत के अत्याचार को पीछे धकेलते हुए बेकसूर महिला पर लाठियां बरसाई है । पुलिस की लाठी बरसाए जाने के मामले को दो दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस अफसरों ने जल्लाद उपनिरीक्षक और सिपाही पर अभी तक कार्रवाई नहीं की है। पीड़ित महिला ने अपने शरीर के चोट के निशान को दिखाते हुए आरोपी उपनिरीक्षक और सिपाही पर कार्रवाई के लिए मांग की है।

आपको बता दें कि चरवा थाना क्षेत्र के गढ़वा उदाथू गांव की रेखा कुमारी के घर चरवा थाने के उपनिरीक्षक कई सिपाहियों के साथ पहुंचे, और उसके मामा के बारे में जानकारी मांग रहे थे । बताते हैं कि मामा ने पुलिस के खिलाफ अदालत में एक वाद दाखिल कर मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। पुलिस ने महिला से मामा के बारे में पूछा । जब महिला ने कहा कि मामा कहा है वह नही जानती तो पुलिस वाले उस महिला को गाली गलौज करने लगे । जब महिला ने पुलिस की गाली का विरोध किया तो चरवा थाने के उपनिरीक्षक जल्लाद बन गए और महिला को यह कहकर बेरहमी से लाठियों से पीट दिया है कि वह बीडीओ बना रही है । पुलिस ने महिला की पिटाई में इस कदर थर्ड डिग्री इस्तेमाल किया है कि लोगों की रूह कांप गई। पुलिस की पिटाई के बाद घायल महिला के उन अंगों में भी लाठियों के निशान हैं जिन अंगों को महिलाएं समाज के सामने दिखाने में शर्म महसूस करती हैं।

एक तरफ पुलिस अधिकारी अधीनस्थों को यह पाठ पढ़ा रहे हैं कि वह आम जनता के बीच मधुर संबंध बनाएं और नारी का सम्मान करें । वही दूसरी तरफ अधीनस्थ पुलिस जुल्म ज्यादती अत्याचार की सारी हदें पार कर रहे हैं और जांच के नाम पर इन जल्लाद पुलिस कर्मियों को जांच अधिकारी बचा रहे हैं। ऐसी स्थिति में योगी सरकार की आम जनता के बीच छवि क्या रह जाएगी यह गंभीर चिंतन का विषय है और महिला पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल करने वाले उपनिरीक्षक के कारनामों पर आला अधिकारियों द्वारा क्या होती है जय जाँच का विषय है ।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक अभिनंदन सिंह से बात हुई तो उन्होंने कहा मामले की सीओ से जांच कराई जा रही है, जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी ।

Check Also

_योगी सरकार का बड़ा फैसला, हर व्यक्ति को मिले रोजगार, इसलिए मनरेगा के बजट को किया दोगुना, 20 लाख से अधिक श्रमिकों को मिलेंगे ये 17 बड़े लाभ_

🔊 Listen to this *_योगी सरकार का बड़ा फैसला, हर व्यक्ति को मिले रोजगार, इसलिए …